Home

वसंत : फरवरी या मार्च …

धरा ने वसंत को पूरी तरह जिया भी नहीं की पतझड़ की आहट होने लगी है । अचानक से धूप तीखी हो गयी है । ऐसे जैसे मार्च अपने वक़्त से पहले आ कर – फ़रवरी का हिस्सा छिन रहा हो । ग़लत बात लगती है , किसी के हिस्से में प्रवेश करना । ऐसा … Continue reading वसंत : फरवरी या मार्च …

ये इश्क़ है …मेरी जां …

ये इश्क़ है , मेरी जाँ …
दरवाज़े बंद कर दो , खिड़कियाँ बंद कर दो ।
चाहो तो ख़ुद को किसी क़ैदखाने में क़ैद कर दो ।
भले इस जहाँ को छोड़ किसी और जहाँ चले जाओ ।
ये इश्क़ है , मेरी जाँ …

दालान पर आपका स्वागत है …!!!


दालान को पढ़ें …!!!

दालान के नए पोस्ट के लिए यहां अपना ईमेल डालें …!!!