आम्रपाली …

“इतने बड़े महल में , घबराऊँ मैं ‘बेचारी’ ” ।इस गीत में जब लता मंगेश्कर की आवाज़ वैजयंती माला के होंठ से , तब जब वो जिस अदा से ‘बेचारी’ बोलती हैं , कसम से दिल पर कोई छुरी नही चलती है , लगता है जैसे इस मासूम दिल को कोई रेंत रहा है …उफ्फ्फContinue reading “आम्रपाली …”