श्रद्धा और विश्वास …एक छोटी कहानी …

शायद काफी पहले …करीब पचीस - छब्बीस साल पहले …दूरदर्शन पर हर शुक्रवार एक सीरियल जैसा ही आधे घंटे का प्रोग्राम आता था - कथा सागर ! विश्व की बेहतरीन कहानीओं पर आधारित - श्याम बेनेगल भी कई एपिसोड डाइरेक्ट किये थे - कई कहानी आज तक याद है - रेनू की कहानी 'पञ्चलाईट' पर … Continue reading श्रद्धा और विश्वास …एक छोटी कहानी …

इंजीनियर्स डे …

आज सर एम विश्वेसरैया जी का जन्मदिन है ! आज के दिन उनकी याद में भारत में 'इंजीनियर्स डे ' भी मानते हैं ! उनको किस किस पदवी से नहीं नवाजा गया - कहना मुश्किल है ! मैसूर राज्य के दीवान / भारत रत्न और भी बहुत कुछ ! मैसूर का फेमस वृन्दावन गार्डेन / … Continue reading इंजीनियर्स डे …

उम्र …

हर रविवार सुबह नाश्ते के बाद - पान खाने जाता हूँ - मेरे गेट के सामने ही 'पान वाला' है - चौरसिया नहीं है पर मेरे गृह राज्य का ही है - कई गलत आदतें छूट गयीं हैं लेकिन हर इतवार पान खाना बंद नहीं होता - जब उसका लाल पिक होठों के बगल से … Continue reading उम्र …

गप्प …दे गप्प …दे गप्प …

सुख क्या है ? आनन्द की अनुभूती कब होती है ? परम आनन्द कैसे मिले ? कई सवाल हैं ! हर उम्र और मौके के हिसाब से इन सब की व्याख्या है ! पर एक सुख है - वो है - 'गप्प' ! जिसे मेरे बिहार में 'गप्पासटिंग' भी कहते हैं ! और हम एक … Continue reading गप्प …दे गप्प …दे गप्प …